Labels

Tuesday, May 30, 2017

मोहन चौधरी

मोहन चौधरी के विषय में मात्र यह एक उपन्यास का आवरण पृष्ठ प्राप्त हुआ है।
मोहन चौधरी के उपन्यास
1. खूनी चमगादड़

उक्त लेखक के विषय में अगर किसी भी पाठक मित्र के पास कोई भी जानकारी हो तो हमें भेजने का कष्ट करें।
- गुरप्रीत सिंह
     - 9509583944
Email- sahityadesh@gmail.com

अमिताभ

उपन्यासकार अमिताभ के विषय में कोई भी जानकारी उपलब्ध नहीं हो पायी।
अमिताभ के उपन्यास हिंद पॉकेट बुक्स से प्रकाशित होते थे।
अमिताभ के उपन्यास
1. पाप की दुनिया




उक्त लेखक के विषय में अगर किसी भी पाठक मित्र के पास कोई भी जानकारी हो तो हमें भेजने का कष्ट करें।
- गुरप्रीत सिंह
     - 9509583944
Email- sahityadesh@gmail.com

विकास

विकास नामक लेखक कौन थे, कहां से थे, अभी तक इस विषय में कोई विशेष जानकारी उपलब्ध नहीं हो पायी।
विकास के उपन्यास
1. राखी बनी ज्वाला

2 कसम सिंदूर की (अभिनव पॉकेट बुक्स- दिल्ली)

उक्त लेखक के विषय में अगर किसी भी पाठक मित्र के पास कोई भी जानकारी हो तो हमें भेजने का कष्ट करें।
- गुरप्रीत सिंह
     - 9509583944
Email- sahityadesh@gmail.com

अश्विन कुमार

युवा लेखक अश्विनी कुमार के संबंध में अभी तक कोई विशेष जानकारी उपलब्ध नहीं हो पायी।

अश्वनी कुमार सूरत, गुजरात के निवासी हैं।

इनका प्रस्तुत उपन्यास रवि पॉकेट बुक्स- मेरठ से प्रकाशित हुआ है।
अश्विनी कुमार के उपन्यास
1. शातिर खूनी

लेखक का पता-

- अश्विन कुमार

रंगीला नगर, प्लाट नं.-13

सूरत, गुजरात

Mob- 9714330798, 8905550417


उक्त लेखक के विषय में अगर किसी भी पाठक मित्र के पास कोई भी जानकारी हो तो हमें भेजने का कष्ट करें।
- गुरप्रीत सिंह
     - 9509583944
Email- sahityadesh@gmail.com

डाॅ. फखरे आलम खान

उपन्यास साहित्य में डाॅक्टर फखरे आलम खान एडवोकेट यथासंभव ये पहले ऐसे लेखक हैं जिनके नाम के साथ डाॅक्टर की उपाधि लगती है और साथ में ये एडवोकेट भी हैं।
     आलम खान साहब ने उपन्यास रवि पॉकेट बुक्स- मेरठ से प्रकाश्य हैं।

डाॅक्टर फखरे आलम खान एडवोकेट के उपन्यास
1. शातिर हसीना
2. इंतकाम


उक्त लेखक के विषय में अगर किसी भी पाठक मित्र के पास कोई भी जानकारी हो तो हमें भेजने का कष्ट करें।
- गुरप्रीत सिंह
     - 9509583944
Email- sahityadesh@gmail.com

रमन कुमार चौधरी

रवि पॉकेट बुक्स- मेरठ द्वारा प्रकाश्य रमन कुमार चौधरी का यह कवर पेज हमें इसी संस्था से प्राप्त हुआ। 

रवि पॉकेट द्वारा प्रकाशित रमनचौधरी का यह प्रथम उपन्यास है। रमन कुमार चौधरी टीवी लेखन और निर्देशन में एक सक्रिय नाम है


रमन कुमार चौधरी के उपन्यास
1. बिना मौत नया जन्म


लेखक का पता

- रमन कुमा चौधरी

गांव- चौहुंटा, मैनाबाय

पोस्ट- कमतौल

मधुबनी, बिहार

Mob- 9525322844

लेखक के विषय में अगर किसी भी पाठक मित्र के पास कोई भी जानकारी हो तो हमें भेजने का कष्ट करें।

- गुरप्रीत सिंह
     - 9509583944
Email- sahityadesh@gmail.com

Monday, May 29, 2017

जयंत कुशवाहा

जयंत कुशवाहा नामक लेखक प्रसिद्ध लेखक कुशवाहा कांत के भाई थे।
जयंत कुशवाहा के बारे में कोई विशेष जानकारी उपलब्ध नहीं होती।
इनके कुछ उपन्यास आज भी उपन्यास प्रेमियों के पास उपलब्ध हैं।
- जयंत कुशवाहा के उपन्यास
1. बगावत
2. जनाजा

3. क्रांतिदूत

4. बारूद

5. अमानत

6. फफोले

7. इंतकाम

8. नासूर

(क्रम 3-8 तक का प्रकाशन चिंगारी प्रकाशन वाराणसी है)

- उक्त लेखक के विषय में किसी भी पाठक के पास कोई भी जानकारी उपलब्ध हो तो हमें भेजने का कष्ट करें।
- गुरप्रीत सिंह
- 9509583844
Email- sahityadesh@gmail.com

मीरा

बीते दौर की चर्चिल लेखिका थी मीरा।
बहुत से पाठकों के पास आज भी मीरां के उपन्यास मिल जायेंगे।
मीरा एक सामाजिक उपन्यासकार थी।
हालाँकि हमारे पास अभी तक मीरा से संबंधित विशेष जानकारी उपलब्ध नहीं है। जैसे ही कोई जानकारी उपलब्ध हुयी इस ब्लाॅग पर उपलब्ध करवा दी जायेगी ।

- मीरा के उपन्यास
1. अनोखी सुहागिन
2. नफरत के शोले

कबीर कोहली

कबीर कोहली मेरे लिए नया नाम है, पर जिन्होनें कबीर कोहली को पढा है उनका दावा है की पाठक बार-बार कबीर कोहली को पढना चाहेगा।
  कबीर कोहली तेजा सीरीज व अमिषा पाटिल सीरीज लिखते हैं। तेजा सीरीज जहां थ्रिलर हैं वहीं अमिषा पाटिल मांसल सौन्दर्य युक्त उपन्यास हैं।
   कबीर कोहली के उपन्यास रवि पॉकेट बुक्स- मेरठ से प्रकाश्य हैं।
कबीर कोहली के उपन्यास
1. मेरी चाहत सबकी मौत   (तेजा)
2. नर्कद्वार                        ( तेजा)
3. टुण्डा              (तेजा)
4. प्यादा              ( तेजा)
5. ठरकी             (तेजा)
6. छप्पन छुरी      (अमिषा पाटिल)

उक्त लेखक के विषय में किसी भी पाठक के पास कोई भी जानकारी हो तो हमें भेजने का कष्ट करें।
धन्यवाद

Tuesday, May 23, 2017

अरुण आनंद

अरुण आनंद की ये जानकारी अंबाला(HR) से हमें संदीप कपूर जी ने प्रेषित की है।
अरुण आनंद के कुछ पात्रों के नाम -
- क्राइम एक्सपर्ट विक्रम खन्ना
- जयप्रकाश, गोंगलु
अरुण प्रकाश एक जासूसी उपन्यासकार हैं।

इनके उपन्यास शिवा पॉकेट बुक्स से प्रकाशित हैं।
अरुण आनंद के उपन्यास
1. दस बजकर दस मिनट
2. गोली काण्ड
3. फिंगर प्रिंट
4.
5.
- उक्त लेखक ने विषय में किसी के पास कोई भी सूचना हो तो हमें भेजने का कष्ट करें।
- गुरप्रीत सिंह- 9509583944
Email- sahityadesh@gmail.com

रमन भण्डारी

उपन्यासकार रमन  के बारे में अभी तक कोई विशेष सूचना हमारे पास नहीं ।
इनके उपन्यास मनोज पॉकेट बुक्स से प्रकाशित होते थे।
- रमन भण्डारी के उपन्यास
1. पांचवां कफन
2. खून  सनी दौलत

एडवोकेट विकास गुप्ता

केशव नामक बहती नदी में बहुत सारे लोगों ने हाथ धोये थे। उन्हीं में से एक हैं एडवोकेट विकास गुप्ता।
अब ये वास्तविक लेखक थे या छद्म लेखक कुछ कहा नहीं जा सकता।
पर प्रस्तुत उपन्यास Ghost Writer की शैली का है।

इनके उपन्यास मनोज पॉकेट बुक्स से प्रकाशित होते थे।
- एडवोकेट विकास गुप्ता के उपन्यास

1. केशव का बाप
2. केशव और ब्रेन मास्टर

3. केशव की अदालत

संदर्भ- उक्त जानकारी हमें अंबाला से अध्यापक संदीप कपूर जी ने प्रेषित  की है।

Monday, May 22, 2017

नये उपन्यास

नमस्कार,
नये आगामी उपन्यासों की सूचना

1. सूरज पॉकेट बुक्स के स्वामी शुभानंद का नया उपन्यास 'मास्टरमाइंड' जल्द ही बाजार में होगा।

2. The Old Fort और Tragedy Girl की सफलता के पश्चात एम. इकराम. फरीदी का नया उपन्यास ' गुलाबी अपराध' रवि पॉकेट बुक्स से आयेगा।

3. अमित श्रीवास्तव का प्रथम उपन्यास 'फरेब' शीघ्र ही सूरज पॉकेट बुक्स से प्रकाशित होगा।

4. नये लेखक अनुराग कुमार जीनियस का उपन्यास 'लाश का चक्कर' उपर्युक्त तीनों उपन्यासों से पहले बाजार में आयेगा या आ गया।
( लाश का चक्कर उपन्यास बाजार में उपलब्ध है।)
प्रकाशन संस्था के नंबरों पर काॅल कर उपन्यास मंगवा सकते हैं-  9760184359
5. सुरेन्द्र मोहन पाठक का 'इंसाफ दो' के पश्चात नया उपन्यास 'हीरा-फेरी' अति शीघ्र हाॅर्पर कालिंस से प्रकाशित होगा।

6. सूरज पॉकेट बुक्स के जुलाई माह में चार नये उपन्यास आ रहें हैं।
6. नये लेखक देवेन पाण्डेय का प्रेमपरक उपन्यास 'इश्क बकलोल'

7. प्रसिद्ध लेखक एस. सी. बेदी के तीन उपन्यास आने वाले हैं।
1. तबाही     2. पवित्र मिशन   3. नाचती मौत

--------
पाठकवर्ग को अन्य लेखकों के उपन्यासों की जानकारी हो तो हमसे संपर्क करें।
-लेखक महोदय भी अपने उपन्यासों की जानकारी शेयर कर सकते हैं, ताकि पाठकों को समय-समय पर सूचना मिलती रहे।
धन्यवाद
- गुरप्रीत सिंह
राजस्थान
Mob.- 9509583944
Email- sahityadesh@gmail.com

upcoming Novel

नमस्कार,
एक नया प्रयास है। वह है इस ब्लाॅग के माध्यम से  लेखकों के नये व आगामी उपन्यास की जानकारी पाठकों को प्रदान करना। यह कार्य एकमात्र ब्लाॅग संचालक के द्वारा संभव नहीं है। यह तभी संभव है जब लेखक महोदय अपने उपन्यास की जानकारी शेयर करेंगे।
    हमारा लेखकों से अनुरोध है की वे पाठकों के लिए अपने आगामी उपन्यास की जानकारी हमारे साथ शेयर करें ताकी हम पाठकों तक आपकी जानकारी पहुंचा सकें।
संपर्क करें।
- गुरप्रीत सिंह
Mob- 9509583944
Email- sahityadesh@gmail.com

Sunday, May 21, 2017

गजाला

हिंदी लुगदी उपन्यास संसार में आपको कई महिला उपन्यासकार के नाम से उपन्यास मिल जायेंगे। पर आप को जानकर आश्चर्य होगा वे सभी के सभी छद्म लेखक (Ghost Writer) हैं।
डार्लिंग, सोफिया,  आदि।
हिंदी लुगदी उपन्यास जगत में वास्तविक महिला लेखक है और वह भी जासूसी उपन्यासकार।
हम आज चर्चा कर रहें है हिंदी की प्रथम महिला जासूसी उपन्यासकार गजाला की।
उत्तर प्रदेश निवासी गजाला स्वर्गीय वेदप्रकाश शर्मा की शिष्या है।
ये सन् 2005-2010 तक सक्रिय रही थी।
गजाला के उपन्यास
1. तुरुप का इक्का
2. ख्वाबों की शहजादी
3. कट्टो
5. अंगूरी बदन
6. चुलबुली

7.रंगीन फितना

8.परी हूँ मैं

9.रूप मस्तानी

10.जवानी जिंदाबाद

11. हवा हवाई

12. गोल्डन बुलेट

13. लेडी हंटर

विमल शर्मा

विमल शर्मा जी के बारे में कोई विशेष जानकारी उपलब्ध नहीं है।
ये उपन्यासकार दिनेश ठाकुर के मित्र हैं।

इनके उपन्यास माया पॉकेट बुक्स से प्रकाशित हैं।

विमल शर्मा के उपन्यास

1.लोमङी

2. कानखजूरा
3. डूबता जहाज

4. शातिरों का शातिर

सौजन्य से- संदीप कपूर, अंबाला, हरियाणा

अनिल सक्सेना

बदायूं/मुरादाबाद के निवासी अनिल सक्सेना का पहली बार नाम 03.02.2017 को समाचार पत्र दैनिक भास्कर के एक online संस्करण में देखने को मिला।
  अनिल सक्सेना के बारे में जो भी जानकारी प्राप्त हुयी उसका आधार वही एक समाचार पत्र है। जानकारी भी कोई अच्छी नहीं मिली।
समाचार पत्र के अनुसार कक्षा 12 तक पढे एक उपन्यासकार नोट दुगने करने के आरोप में गिरफ्तार ।
अनिल सक्सेना के उपन्यास
1. ईंट का जवाब गोली-(1992)
2. आज का कानून
3. कानून का गुलाम
4. खुद्दार (अंतिम उपन्यास)
5.
इनके उपन्यास कविता पब्लिकेशन से प्रकाशित होते थे।
उक्त लेखक के विषय में किसी को कोई भी जानकारी हो तो हमें भेजने का कष्ट करें।
धन्यवाद
- संदर्भ
दैनिक भास्कर 03.02.2017

केशव शर्मा

छदम लेखकों की श्रेणी में एक और नाम आता है वो है केशव शर्मा।
वेदप्रकाश शर्मा का पात्र केशव पण्डित इतना प्रसिद्ध हुआ था की हर प्रकाशन संस्थान नें केशव पण्डित नाम से असंख्य लेखक ही पैदा कर दिये।
एक तरफ जहाँ ये Ghost Writer अपनी मौलिक प्रतिभा का हनन तो करते रहे वहीं इन्होंने लुगदी उपन्यास इंडस्ट्री का काम भी खत्म कर दिया।
पाठक जिस भी नये लेखक की उपन्यास उठाता वही लेखक नकली निकल जाता। इन Ghost writers को कहानी से कोई मतलब नहीं था। ये तो बस नाम बेच रहे थे और बेच दी उपन्यास इंडस्ट्री ।
केशव पण्डित का आधार बना कर इतने केशव पण्डित पैदा हो गये जितने की केशव पण्डित के उपन्यास के पृष्ठ भी नहीं थे।
एक नजर देखिए- केशव पण्डित, केशव पाण्डेय, केशव शर्मा, केशव पाण्डे, केशव पारीक, केशव...केशव..केशव...
और फिर तो हद हो गयी केशव की पत्नी, पुत्र, असिस्टेंट और यहाँ तक की केशव पण्डित का जो नकली केशव पण्डित के उपन्यासों का ड्राइवर था उसी के नाम से उपन्यास तक बाजार में आ गये
इसी प्रकार का एक नकली केशव शर्मा था।
केशव शर्मा के उपन्यास
1. फिर आया कानून का बेटा
2.
3.
4.
5.

आशीर्वाद

वेदप्रकाश शर्मा के द्वारा स्थापित एक पात्र केशव पण्डित का उपन्यास जगत में जितना दोहन हुआ है उतना विश्व साहित्य में किसी भी पात्र का नहीं हुआ।
कुछ प्रकाशन संस्थानों ने तो केशव पण्डित का पुत्र तक  उपन्यास जगत में खङा कर दिया।
और कुछ प्रकाशन संस्थानों ने तो नकल की नकल की नकल तक कर ली।
आशीर्वाद के उपन्यास
(राधा पॉकेट बुक्स द्वारा प्रकाशित)
1. केशव पण्डित का चैलेंज
2. केशव पण्डित का कानून
3.

डार्लिंग

तुलसी पब्लिकेशन की प्रस्तुति थी डार्लिंग।
यह एक छद्म लेखक है और हो सकता है तुलसी पब्लिकेशन के लिए कई लेखक इस नाम से उपन्यास लिखते हॊं।
कुछ दिन पूर्व फेसबुक पर एक वृद्ध सज्जन मिले थे और उन्होंने बताया की वे डार्लिंग नाम से कई उपन्यास लिख चुके हैं।
डार्लिंग के उपन्यास
1. रंगमहल
2. चहकती मैना
3. विषकन्या
4. मधुमक्खी
5. शहद की परी

Wednesday, May 17, 2017

ओमप्रकाश शर्मा - जनप्रिय लेखक

जनप्रिय लेखक ओमप्रकाश शर्मा।
ओमप्रकाश दिल्लीकी एक कपङा मिल में मजदूर थे।
 इन्होंने मिल में काम करते हुए अपने लेखन कार्य कोभी जारी रखा।
इनके उपन्यास जासूसी होते हुए भी कोई न कोई संदेश लिए होते थे।
इनके उपन्यासों में सामाजिकता, जासूसी के साथ-साथ देशभक्ति का भी रंग मिलता है।
ओमप्रकाश शर्मा
जन्म- 4.12.1924
मृत्यु- 14.10.1998
ओमप्रकाश शर्मा की साइट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें। - ओमप्रकाश शर्मा
ओमप्रकाश शर्मा के उपन्यास
1. हवाई जहाज लापता
2. सुंदरवन में षड्यंत्र
3. मकङी की सुरंग- प्रथम भाग
4. मकङी की सुरंग - द्वितीय भाग
5. जगत और चंपा डकैत
6. लखनवी जासूस
7. काल कोठरी
8. एक नवाब- पन्द्रह चोर
9. तीन गायब (समीक्षा पढने के लिए नाम पर क्लिक करें)
10. पांच करोङ का हीरा- जगत सीरिज (दुर्गा पॉकेट बुक्स)

सोफिया

यह भी एक Ghost Writer है।
इनके बारे में कोई विशेष जानकारी उपलब्ध नहीं ।
सोफिया के उपन्यास
1.- औलाद की चाह

ब्रह्म प्रकाश

ब्रह्म प्रकाश का अभी तक एक उपन्यास ही नजर में आया है।
इनके बारे में और कोई जानकारी अभी तक उपलब्ध नहीं ।
- ब्रह्म प्रकाश के उपन्यास
1. कानून बनेगा मुजरिम

आदिल रशीद

आदिल रशीद जी के बाते में अभी तक कोई विशेष जानकारी उपलब्ध नहीं ।
इनका ये एक उपन्यास अंबाला के एक अध्यापक मित्र संदीप कपूर जी के पास उपलब्ध है।
- आदिल रशीद के उपन्यास
1. खोया खोया चांद है।

परिवर्तन पण्डित

केशव पण्डित की नकल कर असंख्य उपन्यासकार उपन्यास जगत में आये उन्हीं में से एक हैं परिवर्तन पण्डित।
  इनके विषय में मात्र यही जानकारी उपलब्ध है की मैनें इनका एक उपन्यास एक जगह देख था।
परिवर्तन पण्डित के उपन्यास
1. सूअर का बाल

रोमा चौधरी

सुर्या पॉकेट बुक्स- मेरठ द्वारा प्रायोजित रोमा चौधरी एक छदम लेखक (Ghost Writer ) है।
  इसे रीमा भारती व मोना चौधरी (अनिल मोहन की एक पात्र) की तर्ज पर तैयार किया गया लगता है।
   निम्न स्तरीय उपन्यास और वह भी अश्लिलता के आधार पर लिखे गये।
  इन उपन्यासों की लेखक रोमा चौधरी है और वही अपने उपन्यासों की मुख्य पात्र(नायिका) है। जो की एक जासूस है।
रोमा चौधरी के उपन्यास
(इनके समस्त उपन्यास सूर्या पॉकेट बुक्स से प्रकाशित हैं।)
1. जहर की पुङिया
2. हीरे की कन्नी
3. मौत की परकाला
4. लाल परी
5. शिकार पर निकली गोली (प्रथम भाग)
6. तहकीकात (द्वितीय भाग)
7. खतरनाक
8. चालाक लोमङी
9.

Thursday, May 11, 2017

कुशवाहा कांत

कुशवाहा कांत विलक्षण प्रतिभा के धनी थे। उन्होंने कम समय में ही उपन्यास जगत में अपनी लेखनी का प्रभाव स्थापित कर दिया था।
जहाँ उन्होंने एक तरफ सामाजिक, शृंगार रस से परिपूर्ण उपन्यास लिखे तो वहीं इन्होंने जासूसी और क्रांतिकारी उपन्यासों का सृजन किया।

कुशवाहा कान्त का
जन्म- 9 दिसम्बर,1918
जन्म भूमि- मिर्जापुर,उत्तर प्रदेश
मृत्यु- 29 फ़रवरी,1952
प्रसिद्ध रचनाएँ- 'लाल रेखा', 'पारस', 'विद्रोही सुभाष', 'आहुति' आदि।
विशेष-  इनकी कृतियाँ 'कुँवर कान्ता प्रसाद' के नाम से प्रकाशित होती थीं।
-  इन्होंने 'महाकवि मोची' नाम से कई हास्य नाटकों तथा कविताओं का भी सृजन किया।
- मिर्जापुर,उत्तर प्रदेशके 'महुवरिया' नामक मोहल्ले में जन्में कुशवाहा कान्त ने नौवीं कक्षा में ही ‘खून का प्यासा’ नामक जासूसी उपन्यास लिखा था।

कुशवाहा कांत जी द्वारा संपादित पत्रिकाएँ

1. चिनगारी
2. नागिन ( मासिक पत्रिका)
3. बिजली

.29 फ़रवरी,1952 को कबीर चौरा के पास गुण्डों ने एक आक्रमण किया, जिसमें कुशवाहा कान्त का निधन हो गया।

कुशवाहा कांत के कुल 35 उपन्यास

1. लाल रेखा √
2. पपिहरा (पपरिहा)
3. परदेसी (प्रथम भाग)
4. परदेशी द्वितीय भाग) (पराया)
5. पारस
6. जंजीर √
7. मदभरे नयना
8. नागिन
9. विद्रोह सुभाष √
10. उसके साजन
11. जवानी के दिन
12. हमारी गलियां
13. खून का प्यासा
14. दानव देश
15. रक्त मंदिर
16. गोल निशान
17. उङते-उङते
18. पराजिता
19. काला भूत
20. कैसे कहूँ
21. लाल किले की ओर
22. निर्मोही √
23. लवंग
24. नीलम √
25. आहूति
26. बसेरा
27. इशारा
28. जलन
29. कुंकुम
30. पागल
31. मंजिल
32. भंवरा
33. चूङियाँ
34. अकेला √
35. अपना पराया
√ मेरे पास उपलब्ध उपन्यास ।
 
कुशवाहा कांत के नाम पर प्रकाशित नकली उपन्यास
1. आहट
2. काजल
3. कलंक
4. कटे पंख
5. उपासना
संदर्भ:- उपर्युक्त समस्त जानकारी कुशवाहा कांत के छोटे भाई उपन्यासकार जयंत कुशवाहा द्वारा एक उपन्यास में प्रकाशित की गयी थी।

मेजर बलंवत

उपन्यासकार कर्नल रंजीत का एक प्रसिद्ध पात्र था - मेजर बलवंत। जो की कर्नल रंजीत के उपन्यासों का नायक था, एक जासूस था।
  इसी पात्र की लोकप्रियता को देखते हुए और इस लोकप्रियता को भूनाने के लिए मेजर बलवंत नाम का एक उपन्यासकार ही खङा कर दिया।
   मेजर बलवंत कौन था, कहां से था इस विषय में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं।
मेजर बलवंत के उपन्यास
1. देवी दीदी
2. इकबाल-ए- जुर्म
3. टेलिफोन जासूस
4. मौत का व्यापार
5. थाने में डकैती
6. गोली और चीख
7. मजबूर कातिल
8. पाप का चक्रव्यूह
9. एजेंट जीरो
10. नागपाश


मेजर बलवंत के हिंद पॉकेट बुक्स से प्रकाशित उपन्यास

1. समुद्र का हत्यारा
2. फ्लैट नंबर 102
3. मौत की शाम
4. एजेंट जीरो
5. होटल गोल्डन स्टार
6. खूनी नक्शा
7. ब्ल्यू हैवन क्लब
8. इन्टरनेशनल षड्यंत्र
9. मौत की शतरंज
10. लावारिश लाश
11. ब्लैकमेलर की हत्या
12. जहरीले इंसान
13. जुङवा लाशें
14. आखिरी डकैती
15. ब्लैक बाॅस
16. फ्लैट में लाश
17. खूनी बंगला
18. निर्दोष अपराधी
19. कत्ल की रात
20. अपराधी की मौत
21. रिपोर्टर की हत्या
22. कैदी नंबर 314
23. खूनी रिश्ते
24. लाश का प्रतिशोध
25. मौत का सिलसिला

कर्नल रंजीत

कर्नल रंजीत एक जासूसी उपन्यासकार थे।
मखमूर जालंधरी का असल नाम गुरबख्श सिंह था और वे कर्नल रंजीत के नाम से उपन्यास रचना करते थे।(हंस- मार्च,2017, पृष्ठ-203)
कर्नल रंजीत का मुख्य पात्र मेजर बलवंत हुआ करता था। हालांकी बाद में कुछ प्रकाशन संस्थानों ने मेजर बलवंत नाम का एक उपन्यासकार ही खङा कर दिया।
कर्नल रंजीत के निकनेम से लिखने वाले घोस्ट राइटर के कुछ रूझान उपन्यास को दिलचस्प बना देते थे। जैसे सांवले रंग और बङी उम्र की स्त्रियों के प्रति उनका आकर्षण। एक साथ दो-तीन प्लाॅट लेकर चलना और टुकङों-टुकङों में सुनाते चलना......। किसी राज का पर्दाफाश होने पर मेजर बलवंत का होठ गोल कर करके सीटी बजाना। (हंस, मार्च-2017, पृष्ठ-189)
  हालांकि कुछ लोग कर्नल रंजीत को एक छद्म (छदम) लेखक मानते हैं जबकि अब स्थापित हो चुका है वे कोई Ghost Writer नहीं थे बल्कि वे अपने उपन्यास अपने उपनाम से लिखते थे। इस प्रकार की परम्परा हिंदी साहित्य में बखूबी चलती थी। मुंशी प्रेमचंद का भी वास्तविक नाम धनपत राय था और उन्होंने नवाब राय के नाम से भी साहित्य रचना की थी।
कर्नल रंजीत के उपन्यास
1. छ: लाशें
2. तीसरा खून
3. अंधेरा बंगला
4. हत्या का रहस्य
5. भयंकर मूर्ति
6. वह कौन था
7. खून के छींटे
8. मौत के व्यापारी
9.  खूनी घाटी
10. आस्तीन का सांप
11. नीले निशान
12. प्रेतात्मा की डायरी
13. विनाश के शोले
14. गूंगी औरत
15. कुचली हुई लाशें
16. विचित्र हत्यारा
17. टेढी उंगलियां
18. खूनी कंगन
19. सांप की बेटी
20. भयानक बदला
21. शैतान की आंखें
22. जिंदा लाशें
23. पीले बिच्छू
24. खून-खून
25. दूसरी मौत
26. खून की बौछार
27. खून की लकीर
28. दुल्हन की चीख
29. बोलती लाशें
30. हत्यारे का हत्यारा
31. अनोखी हत्या
32. उङती मौती
33. रहस्यमयी रमणी
34. भयानक बौने
35. मौत की भूल
36. जहरीले तीर
37. सात पर्दे
38. षड्यंत्र (षडयंत्र)
39. मौत के फंदे
40. खूनी संगीत
41. मौत की छाया
42. अंतिम हत्या
43. गहरी चाल
44. अधूरी औरत
45. हत्यारे की पत्नी
46. 11 बजकर 12 मिनट
47. हांगकांग के हत्यारे
48. अभिनेत्री की हत्या
49. विजय दुर्ग का रहस्य
50. लहू और मिट्टी
51. पांचवी औरत
52. नकली चेहरे
53. स्वर्ण दुर्ग का ध्वंस
54. बदले की आग
55. काला शाल
56. आधी रात के बाद
57. सिले हुए होंठ
58. नीली आंखें
59. औरत का दुश्मन
60. बूढी परझाई
61. रात के अंधेरे में
62. बेजान आदमी
63. काली आंधी
64. मौत के दरवाजे
65. मौत की परछाई
66. लटकी लाश
67. खूनी हाथ
68. ट्रेन एक्सीडेंट
69. खाली सूटकेस
70. रेत की दीवार
71. सफेद खून
72. मौत का वारंट
73. खामोश मौत आती है।
74. देख लिया तेरा कानून
75. पर्दे के पीछे
76. अंधा झूठ
77. फौलादी संदूक
78. लहू की पुकार
79. जाली हत्यारा
80. मौत का बुलावा
81. सिर कटी लाश
82. खून का जाल
83. बहन की आबरू
84. मौत की आवाज
85. मौत का महल
86. सच की मौत
87. चीखती चट्टान
88. मानव कंकाल
89. टेढा मकान
90. मौत के दरवाजे
91. अंधा हत्यारा
92. मौत से पहले
93. भयानक हत्या
94.
95.

उपर्युक्त समस्त तथ्य हंस पत्रिका (मार्च-2017), मनोज पब्लिकेशन व फेसबुक मित्र राजीव से लिये गये हैं।
- अगर आप के पास उक्त लेखक के विषय में कोई भी सूचना हो तो हमसे शेयर करें।

राज

 उपन्यासकार राज का वास्तविक नाम क्या था, या राज ही

ही उनका वास्तविक नाम था, यह कहना मुश्किल है।  राज के उपन्यास राजा पॉकेट बुक्स-दिल्ली से प्रकाशित होते थे। राज एक जासूसी उपन्यासकार थे। इनके उपन्यासों का जासूस राज नामक एक प्राइवेट डिटेक्टिव हुआ करता था।

     राज के उपन्यासों में हल्की अश्लिलता पायी जाती थी। इनके संवाद द्विअर्थी होते थे।


1.  कत्ल की रात

2. बङी बहू का हत्यारा

3. इंसाफ की जंग
4. सबसे बङा शैतान
5. सजा मैं दूंगा
6. क्राइम किंग
7. मौत के हाथ
8. इंसानियत के दुश्मन
9. मौत का उपहार
10. अमावस की रात
11. सुहाग का कातिल
11. डाक बंगला
12. दस दिन का कर्फ्यू
13. हत्यारा
14. सिरकटी दुल्हन
15. खून का बदला खून
16. ग्यारह बजे
17. मैडम मौत
18. खूनी खेल
19. लाशों की बारात
20. चालाक अपराधी
21. कानून मेरी ठोकर में
22. वर्दी मांगे खून
23. तबाही का वारंट
24. खूनी फरिश्ते
25. धमाकों का शहर
26. दौ सौ साल की सुहागिन
27. गोली चलेगी सीने पर
28. चिराग बुझा दूंगा
29. जलजला
30. हिंसा को मिटा दूंगा
31. बदले का बारूद
32. कब मिटेगी हिंसा
33. दंगा
34. आगजनी
35. ब्लैक वारंट
36. जंग का ऐलान
37. दहशत का तूफान
38. काला हीरा
39. डरपोक शिकारी
40. जुर्म का रखवाला
41. हक की लङाई
42. खून- खराबा
44. गिरफ्तारी
45. ईमानदार कातिल
46. चोर-सिपाही
47. मिस इण्डिया हत्याकांड
48. अनाङी कातिल
49. खेल खेल में कत्ल
50. मर्डर प्लान
51. मोनिका मर्डर केस
52. हथियारों के साए में
53. लाश बोल उठी
54. डकैत नंबर एक
55. चैम्पियन
56. लावारिश लाश
57. होटल मर्डर

Saturday, May 6, 2017

राजवंश

राजवंश एक लोकप्रिय सामाजिक उपन्यासकार थे।
इनके विषय में फिलहाल कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है।
डायमंड पॉकेट बुक्स से प्रकाशित एक उपन्यास से इनके उपन्यासों की एक सूची उपलब्ध हुयी है।
रजवंश के उपन्यास
1. विष का प्याला
2. उपकार
3. कांटों भरे रास्ते
4. सांझ और सवेरा
5. नैना नीर भरे
6. दिल का क्या कसूर ?
7. अमृत के घूंट
8. गुनाहों का देवता
9. दूध का कर्ज
10. पिंजरे की दुल्हन
11. चांदनी
12. बंधन
13. आँसू
14. नेहा
15. जख्मी दिल
16. सौगंध
17. पाप की गंगा
18. नया सवेरा
19. कुरुक्षेत्र
20. खानदान
21. अपमान
22. ऊंचे लोग
23. सिलसिला (उपर्युक्त समस्त उपन्यास डायमंड बुक्स से)
24. मन की बात
25. मदहोश

समीर

जहाँ तक मुझे याद है समीर के उपन्यास डायमण्ड पॉकेट बुक्स, दिल्ली से ही प्रकाशित होते थे।
मैंने समीर के उपन्यास नहीं पढे पर उनके उपन्यासों के शीर्षक से एक बात स्पष्ट होती है, वो ये की समीर एक सामजिक उपन्यासकार थे।
समीर के उपन्यास
1. पतन
2. हमराज
3. भाभी का आंचल
4. निर्लज्ज
5. अंतिम आशीर्वाद
6. ममता की छांव
7. रिश्तों का दर्द 
8. राही प्यार के
9. प्रीत की रीत
10. साजन की बाहों में
11. तलाक
12. घुटन
13. घर का स्वर्ग
14. तितली
15. नासूर
16. अंधेरे बंद कमरे
17. स्वाति
18. दूर के राही
19. दीवाने दिल के
20. नफरत
21. सुहाग
22. कुंवारी बहू
23. तलाश
   उक्त लेखक के विषय में अगर आप के पास कोई भी अन्य जानकारी हो तो नीचे कमेंट बाॅक्स में कमेंट करें या हमसे संपर्क करें।
- गुरप्रीत सिंह
श्री गंगानगर, राजस्थान-335051
Mob- 9509583944

राहुल

राहुल डायमंड पाॅकेट बुक्स से प्रकाशित होने वाले एक जासूसी उपन्यासकार थे।
राहुल के उपन्यास
1. काला सच
2. अंधेरी घाटी
3. जुनून
4.  वह कौन थी?
5. कातिल मूर्ति
6. बगावत
7. धरती मांगे खून
8. काला आदमी
9. काली हवेली
10. टाॅप सीक्रेट
11. अधजला चेहरा
12. मैं इंतकाम लूंगा
13. बेवफा पति
14. विस्फोट
15. बेगुनाह कातिल
16. जुर्म और सजा
17. खूनी कठपुतलियां
18. खण्डहरों के कहकहे
19. जाली नोट
20. आदमखोर
21. कत्ल की सौगात
22. मार्शल
23. खून की बौछार
24. नर पिशाच
25. चीखों के धमाके
26. त्रिकाल
27. पोस्टमार्टम

पवन

पवन एक सामाजिक उपन्यासकार थे।
हमारे पास जो भी इस लेखक से संबंधित जानकारी उपलब्ध है वह इनके उपन्यास 'राज तिलक' से प्राप्त हुयी है।
इनके उपन्यास एक मात्र पवन पॉकेट बुक्स दिल्ली से प्रकाशित होते थे।

यह जानकारी हमें देहरादून के हरमिन्द्र सिंह छाबङा ने भेजी है।
पवन के उपन्यास
1. अभिशाप
2. सौगंध
3. मधुमालती
4. सौतेली माँ
5. सेहरा
6. घर-संसार
7. कुलवधू
8. मंदिर और मस्जिद
9. सगाई
10. बहुरानी
11. पिया का घर
13. राज तिलक